Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

अमर जवान ज्‍योति की तर्ज पर बना है लखनऊ का शहीद स्मारक, जानिए इसका इतिहास

लखनऊः रेजीडेंसी के ठीक सामने, गोमती नदी के तट पर एक सुंदर पार्क के बीच एक सफेद संगमरमर स्मारक को शहीद स्मारक के रूप में जाना जाता है। बता दें कि लखनऊ के शहीद स्मारक को अज्ञात और गुमनाम सेनानियों के लिए बनवाया गया है। जिन्होने 1857 में आजादी के पहले युद्ध में ही अपनी जान गंवा दी थी।

- Advertisement -

LDA द्वारा बनवाया गया है शहीद स्मारक

आपको बता दें कि लखनऊ के शहीद स्‍मारक को लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा बनवाया गया है। जानकारी के मुताबिक यह अच्‍छी तरह से जाना जाता है कि लखनऊ में आजादी की पहली लड़ाई में लखनऊ के कई निवासी, शासकों और नवाब वाजिद अली शाह और उनकी बेगम हजरत महल ने बढ़चढ़ कर इस आन्‍दोलन में हिस्‍सा लिया था।

अमर जवान ज्‍योति की तर्ज पर बना है स्मारक

जानकारी के मुताबिक यह स्‍मारक दिल्‍ली के अमर जवान ज्‍योति की तर्ज पर बनाया गया है। जहां देश के लिए बलिदान देने वालों को श्रद्धांजलि देने के लिए स्‍मारक बनाया गया था।  इस स्‍मारक को 1857 के सिपाही विद्रोह की पहली शताब्‍दी के उपलक्ष्‍य में बनाया गया था।

स्मारक को मशहूर वास्‍तुकार प्रसन्‍ना कोठी ने किया डिजायन

बता दें कि इस स्‍मारक को मशहूर वास्‍तुकार प्रसन्‍ना कोठी द्वारा डिजायन किया गया था। यह एक खूबसूरत और आकर्षित संगमरमर का ऑवर है जो बड़े कलात्‍मक ढंग से गोमती नदी के किनारे शहर के बीचोंबीच स्थित है। यहां एक बड़ा सा सभागार है, और एक लाइब्रेरी भी है, जो बुरहा तालाब के पास स्थित है, और यहां पास में स्थित दूधधारी मंदिर लगभग 500 साल पुराना है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें