Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

सपा नेता का विवादित बयान- रामचरितमानस ग्रंथ को कहा बकवास, धीरेंद्र शास्त्री को बताया ढोंगी !

रामचरितमानस पर बिहार के शिक्षामंत्री चंद्रशेखर की आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद अब समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने भी विवादित बयान दिया है। मौर्य ने रामचरितमानस ग्रंथ को बकवास बता दिया। यही नहीं उन्होंने बागेश्वर धाम के बाबा धीरेंद्र शास्त्री को भी ढोंग फैलाने वाला करार दिया।

- Advertisement -

मौर्य ने अपने विवादित बयान में कहा है, ‘रामचरितमानस में दलितों और महिलाओं का अपमान किया गया है। तुलसीदास ने ग्रंथ को अपनी खुशी के लिए लिखा था। करोड़ों लोग इसे नहीं पढ़ते।’ इस ग्रंथ को बकवास बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार को इस पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए।

सपा नेता ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘ब्राह्मण भले ही दुराचारी, अनपढ़ हो, लेकिन वह ब्राह्मण है। उसको पूजनीय कहा गया है। शूद्र कितना भी ज्ञानी हो, उसका सम्मान मत कीजिए। क्या यही धर्म है? जो धर्म हमारा सत्यानाश चाहता है, उसका सत्यानाश हो।’

सपा नेता ने धीरेंद्र शास्त्री पर बोला हमला 

समाजवादी पार्टी के नेता ने, बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री पर भी हमला बोला। कहा, धर्म के ठेकेदार ही धर्म को बेच रहे हैं। धीरेंद्र शास्त्री ढोंग फैला रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। हालांकि इससे पहले 11 जनवरी को बिहार के शिक्षामंत्री चंद्रशेखर ने भी रामचरितमानस को नफरत फैलाने वाला हिंदू धर्म ग्रंथ बताया था।

रामचरितमानस पर प्रतिबंध लगाने और ग्रंथ को बकवास कहने पर विहिप (विश्व हिन्दू परिषद) अब मौर्य पर भड़क उठी है। विहिप मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने कहा कि, हिंदू धर्मग्रंथ रामचरितमानस पर स्वामीप्रसाद मौर्य जैसे अज्ञानी प्रतिबंध लगाने की बेतुकी बातें कर रहे हैं।

‘धर्म इंसान को जातियों में नहीं बांटता’

रामचरितमानस में एक चौपाई का अंश है, जिसमें कहा गया है- ‘जे बरनाधम तेलि कुम्हारा। स्वपच किरात कोल कलवारा।’ इसमें जिन जातियों का जिक्र है, ये सभी हिंदू धर्म को मानने वाली हैं। इसमें सभी जातियों को नीच और अधम कहा गया है। धर्म इंसान को जातियों में नहीं बांटता है।

‘मौर्य को तुरंत किया जाए गिरफ्तार’

उन्होंने कहा, ‘सत्ता ना मिलने के कारण उन्हें पागलपन का दौरा पड़ रहा है। रामचरितमानस एक पुस्तक नहीं, यह मानव जीवन को सर्वश्रेष्ठ बनाने का अमृत कुंभ है। अयोध्या को रक्त रंजित करने वालों के हमसफर मौर्य ने श्रीराम भक्तों का अपमान किया है। मानसिक विक्षिप्त श्रीराम विरोधी को तत्काल गिरफ्तार करना चाहिए।’

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]