Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

पुलिस को दिया यूं चकमा, छत्तीसगढ़ से गांजा ले पहुंच गया मथुरा !

उड़ीसा में गांजा तस्करी पर सख्ती होने के बाद, गांजा गिरोह हुए ने छत्तीसगढ़ को अपना केंद्र बनाया है। छत्तीसगढ़ से देश के विभिन्न क्षेत्रों में से गांजा की तस्करी हो रही है। मथुरा के मंटोला क्षेत्र में पुलिस और एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स ने पांच तस्करों को 97 लाख रुपये के गांजे समेत गिरफ्तार किया है। दो कारों से इन गांजे की डिलीवरी मथुरा में होने वाली थी। मगर, इसकी भनक पुलिस को पहले ही लग गई। जिसके बाद पुलिस और एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स ने उन्हें मंटोला क्षेत्र में दो करों और गांजे सहित पकड़ लिया है।

- Advertisement -

 

डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि, पूछताछ में तस्करों ने किया बड़ा खुलासा उड़ीसा पुलिस से बचने के लिए तस्करों ने कुछ रास्ते का सफर बसों से किया। ओडिशा में सख्ती होने की वजह से माल की डिलीवरी करने में परेशानी हो रही थी पुलिस से निपटने के लिए सप्लायर 120 किलोमीटर पहले छत्तीसगढ़ के गांव जगदलपुर में आ जाते हैं। वहां पर डिलीवरी लेने बाद यूपी के विभिन्न इलाकों में डिलीवरी देने के लिए निकल जाते हैं।

 

पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि मथुरा के निवासी रविंद्र ने उन्हें गांजा लाने का ठेका दिया था। जिसकी डील 1.70 लाख रुपये तय हुई थी ,एडवांस में मिले थे 70 हजार रुपये । एक लाख रुपये गांजा की डिलीवरी के बाद मिलने वाले थे। डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि पकड़े गए आरोपी यूपी और हरियाणा से हैं जिसमें देवेंद्र नागर फरीदाबाद से है, दीपक कुमार अलीगढ़ का निवासी है, चंद्रपाल पहलवान, कन्हैया कुमार मथुरा के निवासी है। आरोपी लगभग 190.550 किलोग्राम गांजा लेकर स्विफ्ट और इटियोज कार में गांजा लेकर आए थे।

 

 

मथुरा शहर में इससे पहले भी गांजे की तस्करी के मामले सामने आ चुके हैं। कई बार गांजे की डिलीवरी मथुरा में देने की बात सामने आ चुकी है। पुलिस आरोपियों को पकड़ती है। मगर, गिरोह का असली सरगना बचकर निकल जाते हैं। जिसकी वजह से आये दिन तस्करी के मामले सामने आते रहते हैं !

 

 

फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है कि आखिर रविंद्र कौन है? वह इतनी बड़ी मात्रा में गांजा कहां पर सप्लाई करने के लिए मंगा रहा था। उसे किन लोगों को दिया जाना था। किन जिलों के लोग उसके संपर्क में हैं। यह उसकी गिरफ्तारी के बाद ही पता चलेगा। ओडिशा से दिल्ली के एनसीआर शहरों में इसे लेकर तस्करों को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। पहले आरोपी ट्रक में नमक होने की बात कहकर पुलिस को गुमराह करते रहे, बाद में नमक के कट्टे उतारकर ट्रक को चेक किया गया तो उसमें भारी मात्रा में गांजा बरामद हुआ।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें