Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

नीतीश कुमार नहीं हैं ,पीएम पद के दावेदार ,जाने पूरी वजह

बिहार की राजधानी पटना में 23 जून को विपक्ष की बैठक से पहले जदयू की ओर से बड़ा ऐलान किया गया है। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह का कहना है कि नीतीश कुमार पीएम पद के दावेदार नहीं हैं। वह भाजपा मुक्त देश बनाने की अगुआई कर रहे हैं। वह विपक्षी एकता को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा सभी पार्टीओ के साथ बैठक कर ये तय किया जाएगा की पीएम पद के लिए किसको चुना जाए !

- Advertisement -

 

 

 

 

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में समर्थन देने वाले नारे लगाने से परहेज करने का भी आग्रह किया। ललन सिंह ने कहा कि इस तरह के नारे विपक्षी एकता को चोट पहुंचाते हैं। उन्होंने कहा, “चुनाव के बाद जब देश बीजेपी मुक्त हो जाएगा, तो सभी पार्टियां इस बात पर चर्चा करने के लिए मिलेंगी कि देश का नेतृत्व कौन करेगा।”अभी कुछ भी कहना उचित नहीं होगा !

 

 

 

ललन सिंह ने दावा किया कि 2024 के लोकसभा चुनावों में भाजपा को चुनौती देने के लिए 18 राजनीतिक दल बैठक में भाग लेंगे। जद (यू) प्रमुख ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला और जम्मू-कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भी 23 जून को होने वाली विपक्ष की बैठक के लिए अपना समर्थन दिया है।

 

 

 

नीतीश कुमार ने केंद्र में भाजपा के खिलाफ समान विचारधारा वाले दलों को एकजुट करने के लिए दिल्ली, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा और कर्नाटक सहित कई राज्यों की यात्रा की है। नीतीश ने पहली बार 12 अप्रैल को कांग्रेस नेताओं से मुलाकात की थी, जिसके बाद राहुल गांधी ने उनसे मुलाकात को विपक्षी एकता की दिशा में एक ऐतिहासिक कदम बताया था। इसके साथ ही नितीश ने अरविंद केजरीवाल, समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव, बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के अलावा ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक और अन्य से भी मुलाकात की !

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें