Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

Farmers Protest : किसान दिल्ली को दहलाना चाहते हैं, दिल्ली कूच पर बोले हरियाणा गृह मंत्री- अनिल विज

दिल्ली : किसानों का जत्था एक बार फिर से दिल्ली की ओर कूच कर चुका है. किसानों का दिल्ली कूच के ऐलान के अनुसार, 13 फरवरी को दिल्ली के गाजीपुर, चिल्ला, शंभू समेत अन्य बार्डों पर पुलिस काफी मुस्तैद रही। दिल्ली और हरियाणा के अलावा उत्तर प्रदेश पुलिस किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने में सफल रही. पुलिस की कड़ी बंदोबस्त देखते हुए पंजाब किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचि सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि यह भारतीय इतिहास के लिए काला दिन है। हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच झड़प हुई. किसानों को काबू में लाने के लिए पुलिस ने ड्रोन से आंसू गैस के गोले दागे.बताते चले कि केंद्र सरकार ने अपील की है, कि आंदोलन के दौरान हिंसा न करें और बातचीत से हाल निकालें। वहीं किसानों के चलते दिल्ली-एनसीआर में लोगों को देर रात तक भारी ट्रैफिक जाम से दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

- Advertisement -

 

 

किसान दिल्ली को दहलाना चाहते हैं-अनिल विज
बता दे कि, हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने एक बयान में कहा, ‘एमएसपी पर रिपोर्ट 2004 में आई थी, जब कांग्रेस सत्ता में थी। आगे उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 10 साल में कुछ क्यों नहीं किया? किसान दिल्ली जाकर सरकार के प्रतिनिधियों से बातचीत करना चाहते हैं लेकिन जब वे चंडीगढ़ आए तो किसान नेताओं ने उनसे बात करने से इनकार कर दिया। गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि मुझे हैरानी है कि पंजाब सरकार ने एक नोटिस जारी कर हमसे कहा है कि हम अपनी सीमा पर ड्रोन न भेजें। जब किसान अमृतसर से आगे बढ़ने लगे, तो उन्होंने उन्हें रोकने की कोशिश भी नहीं की। इसका मतलब साफ है कि वे चाहते हैं कि किसान दिल्ली में आतंक फैलाएं। हरियाणा में पथराव हो रहा है और इसमें हमारे एक डीएसपी और 25 अन्य पुलिस अधिकारी घायल हो गए हैं।

किसानों पर न चले गोलियां और न आंसू गैस के गोले- पंढेर
पंजाब किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने बुधवार को सरकार से अनुरोध कर कहा कि वह प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ आंसू गैस और अन्य ताकतों का इस्तेमाल बंद करें और सौहार्दपूर्ण माहौल बनाये। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी की ओर मार्च कर रहे किसानों को तितर-बितर करने के लिए प्लास्टिक और रबर की गोलियों और आंसू गैस के साथ-साथ सेल्फ-लोडिंग राइफलों (एसएलआर) का इस्तेमाल किया।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें