Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ्रांस के दो दिवसीय दौरे पर, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद पर खड़े किये कई बड़े सवाल !

दिल्ली 13 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली से फ्रांसीसी मीडिया से बात की, शुक्रवार को उन्हें बैस्टिल दिवस समारोह में सम्मानित किया जायेगा इसके के लिए 13 जुलाई को फ्रांस के लिए उड़ान भरकर प्रधानमंत्री पेरिस पहुंचे वहां पर उन्होंने UNSC को कटघरे में खड़ा किया और कही बड़ी बात दुनिया का सबसे बड़े युवा लोकतंत्र वाले देश भारत को UNSC का स्थयी सदस्य बनाया जाना चाहिए !

- Advertisement -

 

 

 

बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री दो दिवसीय दौरे पर पेरिस पहुंच गए हैं। जहां पर शुक्रवार को फ्रांस के सर्वोच्च पुरस्कार ग्रैंड क्रॉस ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर से सम्मानित किया जाएगा। इस कार्यक्रम से पहले, उन्होंने फ्रांस के Les Echos अखबार को एक साक्षात्कार दिया जिसमें उन्होंने कहा, प्राचीनकाल से, भारत वैश्विक आर्थिक विकास, तकनीकी उन्नति व मानव विकास में योगदान में सबसे आगे रहा है और आगे की इसी कड़ी में पीएम मोदी ने एक बार फिर से संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में भारत की स्‍थायी सदस्‍यता का जिक्र किया है उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अब सबसे अधिक युवा आबादी वाला देश भारत को उसे अपना सही स्थान फिर से हासिल करने की जरूरत है “क्योंकि यह मुद्दा सिर्फ विश्वसनीयता का नहीं है, बल्कि दक्षिणी देशों के वैश्विक अधिकारों का भी है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद दुनिया के संयुक्तराष्ट्र देशों बोलने का स्थान देने का दावा कैसे कर सकती है जबकि सबसे अधिक युवा आबादी वाला देश और इसका सबसे बड़ा लोकतंत्र इसका स्थायी सदस्य नहीं है?”

 

 

 

PM ने कहा कि, भारत प्राचीनकाल से ही विश्व के उत्थान के लिए, आर्थिक विकास, तकनीकी उन्नति व मानव विकास के विभिन्न क्षेत्रों में सबसे आगे रहा है। सम्पूर्ण विश्व जब मंदी से जूझ रहा है, तब भारत खाद्य, मुद्रास्फीति, सामाजिक तनाव जैसी समस्याओं का समाधान पेश कर रहा है। पीएम ने कहा, भारत हमेशा शांति, निष्पक्ष, आर्थिक रूप से कमजोर देशों की चिंताओं और आम चुनौतियों के समाधान के खड़ा रहता है। पीएम मोदी ने कहा जब दुनिया के कई देश बूढ़े हो रहे हैं, भारत दुनिया का सबसे बड़ा युवा देश है। भारत के युवा व कुशल कार्यबल आने वाले दशकों में दुनिया के लिए भी संपत्ति होंगे !

 

 

 

पीएम मोदी ने निमंत्रण के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का आभार जताया। कहा, उनकी सोच भारत से मेल खाती है। लिहाजा भारत व फ्रांस के बीच आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और आमजन के बीच संपर्क जैसे क्षेत्रों में साझेदारी गहरी हो रही है। 2014 के बाद से हमारा व्यापार लगभग दोगुना हो गया है।

 

 

 

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें