Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

कानपुर पुलिस हिरासत में युवा कारोबारी की मौत का मामला: नई SIT टीम करेगी मामले की जांच, सीएम योगी सख्त

यूपी के कानपुर में पुलिस हिरासत में युवा कारोबारी की हुई मौत के मामले में अब नई एसआईटी गठित कर दी गई है। इस मामले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ खुद सख्त हो गए हैं। ऐसे में अब नई एसआईटी टीम को जिम्मेदारी दी गई है कि वे जल्द से जल्द इस पूरे मामले का पर्दाफाश करें और आरोपियों को सामने लाएं।

- Advertisement -

 

बता दें कि कानपुर देहात में पुलिस कस्टडी में हुई युवा कारोबारी की बलवंत की हत्या में बर्बरता की सारी हदें पार हुई हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि रनियां थाने में 4 घंटे तक थर्ड डिग्री दी गई। लाठी डंडों से बुरी तरह पीटा गया। इस पिटाई से बलवंत की मौत हो गई, जिसे पुलिस हार्ट अटैक साबित करने में लगी रही।

 

 

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक थर्ड डिग्री के बाद आरोपी पुलिसवाले बलवंत को लेकर तीन अस्पताल गए। सबने हाथ खड़े कर दिए। यहां तक की जिला अस्पताल में डॉक्टर की ड्यूटी भी बदली गई।

 

 

मौजूदा एसआईटी में पहले दो पुलिस क्षेत्राधिकारी और दो निरीक्षक थे, जिसे भंग करते हुए जिले से बाहर के पुलिस अधिकारियों की निगरानी में सात सदस्यीय दल का गठन किया गया है। प्रशांत कुमार ने बताया कि एसआईटी के नये अध्यक्ष अब कन्नौज के पुलिस अधीक्षक कुंवर अनुपम सिंह होंगे जिनकी निगरानी में तिर्वा के क्षेत्राधिकारी (सीओ) शिव प्रताप सिंह मामले की विवेचना करेंगे।

 

 

नई एसआईटी पर है बड़ी जिम्मेदारी

उन्होंने कहा कि इस टीम में दो निरीक्षक मदन गोपाल गुप्ता व वीरेंद्र विक्रम सिंह, दो उप निरीक्षक धीरज कुमार और राजकुमार तथा दो आरक्षी महेंद्र सिंह और भागवत सिंह शामिल होंगे। इस बीच, कानपुर देहात की पुलिस अधीक्षक (एसपी) सुनीति ने यह पुष्टि की कि विशेष अभियान समूह (एसओजी) के प्रभारी निलंबित उपनिरीक्षक प्रशांत गौतम को बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि अन्य फरार अभियुक्तों को पकड़ने के लिए पुलिस की छह टीम को लगाया गया है.

 

 

पूरे शरीर पर 24 जगह मिले चोट के निशान

बता दें कि पुलिस हिरासत में लालपुर सरैया गांव निवासी बलवंत सिंह (27) की मौत के बाद यह हंगामा खड़ा हुआ है। पोस्टमार्टम के निष्कर्षों से पता चला है कि पीड़ित के सीने, चेहरे, जांघ, पैर, हाथ और तलवों सहित लगभग 24 चोटें थीं।  सिंह की मौत के बाद मंगलवार को कानपुर देहात की पुलिस अधीक्षक सुनीति ने शिवली के थाना प्रभारी (एसएचओ) राजेश सिंह, एसओजी टीम प्रमुख रहे उप निरीक्षक प्रशांत गौतम, दो उप निरीक्षक ज्ञान प्रकाश पांडेय व संपत सिंह, चार मुख्य आरक्षी सोनू यादव, अनूप कुमार, दुर्गेश कुमार, विनोद कुमार और आरक्षी जय कुमार सहित नौ पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था। इन सभी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी थी.

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]