Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

‘पठान’ पर हिंदू संगठन के बाद अब उलेमा बोर्ड का भी फूटा गुस्सा, बोले- नहीं उड़ाने देंगे इस्लाम का मजाक

बॉलीवुड के किंग खान की कमबैक फिल्म पठान चौतरफा विवादों में घिर गई है। शाहरुख खान और दीपिका पादुकोण की फिल्म का विरोध पूरे देश में हो रहा है। इसके गाने ‘बेशरम रंग’ पर सोशल मीडिया से लेकर राजनितिक गलियारों तक बवाल हो रहा है। हिंदू संगठन तो विरोध कर रही रहे हैं अब मुस्लिम संगठन भी इसके विरोध में उतर आए हैं। मध्य प्रदेश में उलेमा बोर्ड ने भी फिल्म और गाने को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। बोर्ड ने पठान फिल्म का बायकॉट करते हुए इसे रिलीज न करने की मांग की है।

- Advertisement -

 

शाहरुख खान और दीपिका की फिल्म ‘पठान’ को लेकर अपना विरोध जताते हुए मध्य प्रदेश उलेमा बोर्ड के अध्यक्ष सैयद अनस अली ने बयान दिया है। अपने इस बयान में सैयद अनस अली ने कहा, ‘फिल्म पठान नाम से बनी है, जिसमें शाहरुख खान एक हीरो हैं, लोग उन्हें देखते हैं, पसंद करते हैं। लेकिन हमारे पास कई जगह से फोन और शिकायतें आई हैं और उन्होंने गुस्से का इजहार किया है कि इस फिल्म से अश्लीलता फैलाई जा रही है और इसमें इस्लाम का गलत प्रचार प्रसार किया गया है।’

 

वह यहीं ही नहीं रुके आगे बोले, ‘इसी फिल्म को लेकर ऑल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी ने एक स्टैंड लिया है और इस फिल्म का बायकॉट किया है। हम भी हुकूमत के लोगों से, जवानों से अपील करते हैं कि इस फिल्म को न देखें। फिल्म को रिलीज ही नहीं होना चाहिए। ऐसे में हम उनके इस फैसले में साथ खड़े हैं।’

 

‘मजहब से मजाक बर्दाश्त नहीं’

उलेमा बोर्ड के अध्यक्ष सैयद अनस अली ने यह भी कहा, ‘यह हमारा हक है। हमारे इस्लाम को, हमारे मजहब को इस तरह से कोई पेश करेगा तो इस पर हम कोई समझौता नहीं करेंगे। कोई इस्लाम को गलत तरीके से पेश करेगा तो यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम हमारे मजहब का सही तरीका पेश कराएं।’ उन्होंने सेंसर बोर्ड से अपील करते हुए कहा कि, ‘मैं सेंसर बोर्ड से पुरजोर अपील करता हूं और तमाम भारत के थिएटर वालों से कहना चाहता हूं कि यह फिल्म कहीं लगने न दें। इससे एक गलत मैसेज जाएगा, शांति भंग होगी और इस मुल्क के अंदर जितने मुसलमान हैं उन सब की भावनाएं आहत होंगी और हमारा मजाक बनाया जाएगा। मैं सभी से अपील करता हूं कि यह फिल्म बिल्कुल न देखें।’

 

 

‘शाहरुख को उमरा जाने से भी रोका जाए’

उलेमा ने शाहरुख खान के मुसलमान होने पर भी सवाल खड़े किए हैं। वह बोले, ‘अभिनेता अपना नाम शाहरुख खान बताते हैं और शाहरुख खान होकर पठान फिल्म बनाते हैं। इस्लाम का, मुसलमानों का मजाक बनाने के लिए ऐसी फिल्म बनाते हैं, इनका भी विरोध होना चाहिए। पठान एक बेहद सम्मानित बिरादरी है, लेकिन फिल्म में उसे बेहद गलत तरीके से पेश किया गया है। मैं हज कमेटी से सिफारिश करता हूं कि वह शाहरुख खान को आगे से उमरा पर जाने के लिए भी वीजा न दें।’

 

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]