Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

विपक्षी एकता फिर खतरे में, राहुल गांधी को लेकर केजरीवाल की पार्टी ने रख दी ये बड़ी शर्त

बीजेपी को 2024 में सत्ता से बेदखल करने के लिए पूरा विपक्ष एकुजट होता दिख रहा था। लेकिन अब विपक्षी एकता एक बार फिर खतरे में है। विपक्षी पार्टियों में इस समय की सबसे मजबूत पार्टी आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के सामने एक ऐसी शर्त रख दी है जिसके बाद ऐसा लगने लगा है कि विपक्ष एक बार फिर बिखर सकता है।

- Advertisement -

 

दरअसल, विपक्षी एकता को लेकर आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के सामने नई शर्त रखी है। AAP की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका कक्कड़ ने कहा कि अगर देश को बचाना है तो सबसे पहले कांग्रेस को यह घोषणा करनी चाहिए कि वह तीसरी बार राहुल गांधी पर दांव नहीं लगाएगी और विपक्ष को मजबूर नहीं करेगी। प्रियंका ने कहा कि देश के हित में यह संविधान बचाने से भी अधिक महत्वपूर्ण है।

 

विपक्षी एकता पर आम आदमी पार्टी ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया है। अगर कांग्रेस संसद में दिल्ली अध्यादेश का विरोध नहीं करती है तो AAP कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष का हिस्सा नहीं बनेगी। अब AAP ने कांग्रेस के सामने एक नई शर्त रखी है। पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका कक्कड़ ने कहा है कि कांग्रेस को राहुल गांधी को तीसरी बार नेता के तौर पर प्रोजेक्ट नहीं करना चाहिए।

 

AAP नेता ने कांग्रेस के संविधान को बचाने के मिशन पर परोक्ष रूप से कटाक्ष करते हुए कहा कि अगर देश को बचाना है तो सबसे पहले कांग्रेस को यह घोषणा करनी चाहिए कि वह तीसरी बार राहुल पर दांव नहीं लगाएगी और विपक्ष को मजबूर नहीं करेगी। देश के हित में, यह संविधान को बचाने से भी अधिक महत्वपूर्ण है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें