Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

BJP से बनी बात तो , RLD को खोई जमीन मिल सकती है वापस ..

बीजेपी के साथ RLD के गठबंधन की खबरों ने उत्तर प्रदेश की राजनीति में अफरा-तफरी मचा दी है। राजनीतिक गलियारों में ऐसी चर्चाएं हो रही हैं कि अगर गठबंधन हुआ और मथुरा लोकसभा सीट रालोद के पाले में गई तो साल 2009 की तरह से एक बार फिर जयंत चौधरी यहां से चुनाव लड़ने के लिए मैदान में उतर सकते हैं।

- Advertisement -

 

 

रालोद को न केवल मथुरा बल्कि प्रदेश के और भी जाट बहुल सीटों पर भी खोई जमीन वापस मिल जाएगी। इधर, सपा खेमे में भी ज़बरदस्त हलचल मची हुई है। और देखा जाए तो अब तक सपा-RLD गठबंधन के तहत मथुरा की सीट रालोद के खाते में है। 19 लाख से ज्यादा मतदाताओं वाली इस सीट को तकरीबन साढ़े तीन लाख जाट मतदाता होने के कारण मिनी छपरौली भी कहा जाता है।

 

 

साल 2009 में RLD ने जयंत चौधरी को भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन में इसी सीट से लांच किया था। ब्रजवासियों ने उन्हें संसद में पहुंचाया, लेकिन वह BJP की सरकार न बनने की वजह से कांग्रेस के साथ चले गए थे। साल 2014 में BJP ने मथुरा से हेमा मालिनी को चुनावी मैदान में उतरा था। उनके सामने चुनाव लड़ रहे जयंत चौधरी को तकरीबन 3,30,743 वोटों से हार का सामना करना पड़ा। साल 2019 में RLD ने कुंवर नरेंद्र सिंह को गठबंधन प्रत्याशी घोषित किया। यह ऐसा पहली बार ही था कि जब चौधरी परिवार ने जाट बहुल मथुरा संसदीय जगह से किसी गैर जाट पर दांव खेला था। BJP से हेमा मालिनी ने उन्हें करीब 2,93.471 वोटों से हरा दिया था।

 

 

तो अब क्या होगा हेमा मालिनी का ?
BJP – RLD का गठबंधन हुआ और मथुरा लोकसभा सीट RLD के खाते में गई तो वर्तमान सांसद हेमा मालिनी का क्या होगा, इसे लेकर लोगों में चर्चा हो रही है कि हेमा मालिनी को चुनाव लड़ाया जाएगा या नहीं या उन्हें कोई अन्य जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

 

 

मथुरा लोकसभा सीट पर लगभग 19.23 लाख मतदाता हैं। इनमें करीब साढ़े तीन लाख जाट, लगभग तीन लाख ब्राह्मण-ठाकुर, करीब डेढ़ लाख SC, इतने ही वैश्य, करीब सवा लाख मुस्लिम और 70,000 के आसपास यादव मतदाता हैं। जबकि अन्य जातियों के तकरीबन 4 लाख वोटर हैं। इसी के साथ आपको बता दे, अगर मथुरा लोकसभा सीट का साल 1957 से रिकॉर्ड देखें तो अभी तक BJP ने अकेले ही लड़ते हुए 6 बार जीत दर्ज की है। वहीं, कांग्रेस ने 4 बार जीत दर्ज की है। लेकिन सपा और बसपा का अभी तक खाता भी नहीं खुला सका है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]