Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

मुझे संघमित्रा को अपनी बेटी कहने में शर्म आती है- स्वामी प्रसाद मौर्य

लखनऊ : समाजवादी पार्टी के पूर्व महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी की नेता और बदायूं से सांसद संघमित्रा मौर्य को लेकर सख्त टिप्पणी की है। उनकी यह टिप्पणी ऐसे वक्त में आई है जब संघमित्रा का एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें वह रोते हुई नजर आ रहीं थीं। बता दें कि बदायूं क्लब मैदान में प्रबुद्ध जन सम्मेलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पहुंचने से कुछ देर पहले सांसद संघमित्रा मौर्य अचानक रोने लगीं। कुछ मिनट बाद वह सामान्य हुईं तब तक मुख्यमंत्री भी आ चुके थे. सांसद संघमित्रा मौर्य स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी हैं। इस बार भाजपा ने बदायूं से उनका ट‍िकट काटकर दुर्विजय शाक्य को प्रत्याशी बनाया है।

- Advertisement -

 

संघमित्रा को अपनी बेटी कहने में शर्म आती है-स्वामी
दरअसल, सपा के पूर्व नेता व RSSP पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य ने पत्रकार को बयान देते हुए कहा कि मुझे संघमित्रा को अपनी बेटी कहने में शर्म आती है। उसने मंच पर रोकर अपने पिता के चरित्र के विपरीत आचरण किया है। बेटी होने का मतलब ये नहीं कि उसकी गलतियां माफ़ हो गई। रोना धोना ओछी और बचकानी बातें हैं। स्वामी प्रसाद मौर्य बेटी के टिकट कटने को लेकर पत्रकारों के सवाल पर कहा कि मुझे उसके टिकट कटने का कोई दुख नहीं. टिकट तो कटना ही था. मैंने उससे कहा कि उसे आरक्षण ख़त्म करने वाले दल के साथ नहीं खड़ा होना चाहिए। अनुसूचित जाति और जनजाति की राजनीति करने वाले लोग अगर उनका आरक्षण ख़त्म करने वालों के साथ खड़े हैं, तो इसे अच्छा नहीं कहा जा सकता. जो सांसद रह चुका है वो दूध पीता बच्चा नहीं है। उसे ख़ुद विवेक होना चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी प्रतिभाओं को आगे बढ़ने से रोकती है।

 

पार्टी में कोई दिक्कत नहीं: संघमित्रा
वीडियो वायरल होने के बाद संघमित्रा से जब पूछा गया कि क्या टिकट कटने की वजह से वह भावुक हुई थीं तो इस पर संघमित्रा ने कहा, उनके पास गुलाब देवी बैठी थीं. वह राजा दशरथ की कहानी बहुत भावुक तरीके से सुना रही थीं, वही सुनकर आंख नम हो गई थीं और कोई बात नहीं थी. पत्रकारों द्वारा टिकट कटने और प्रत्याशी के सवाल पर संघमित्रा ने कहा “अगर टिकट के लिए ऐसा होता तो मैं पहले दिन जब लोकसभा प्रत्याशी बदायूं आए तो मैं उनके सामने बरेली से बदायूं तक नहीं आती और पूरे कार्यक्रम में उनके साथ रही. जिस ह्रदय की गहराई से मैं उनके साथ लगी हुई हूं, अपना चुनाव समझकर. मैं कतई उनके साथ नहीं होती. पार्टी में भी कहीं कोई दिक्कत नहीं है. अगर कोई भी दिक्कत होती तो मैं इस कार्यक्रम से दूर होती.”

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें